Virya (वीर्य) Shukranu (शुक्राणु) Badhane 22 Treatment Hindi

virya badhane ayurvedic tratment

मर्दाना ताकत के लिए विशेष नुस्खे-मर्दाना ताकत के लिए विशेष नुस्खे-पुरूष के जिम्मे बहुत काम होता है। नौकरी करना, बच्चों की देख-रेख करना, घर का खर्चा चलाना, दिन-रात मेहनत करना, पत्नी व अन्य उलझनों का सामना करना आदि एक पुरूष के जीवन की जिम्मेदारी है। इसलिए पुरूषों को सबसे पहले अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना चाहिए। उचित व्यायाम के साथ उचित पौष्टिक आहारों का सेवन करना चाहिए। पौष्टिक आहारों के सेवन से ही धातु पुस्ट होता है। जब धातु पुस्ट रहता हो तो संभोग क्रिया में अति आनंद प्राप्त होता है। धातु पुस्ट रहता हो तो शारीरिक शक्ति व मानसिक शक्ति भी बरकरार रहती है। इससे जीवन सुखमय प्रतीत होता है। जो पुरूष अपने खान-पान का ध्यान रखते हुए जीवन व्यतीत करता है उसे दुर्बलता, शीघ्रपतन, नपुंसकता, स्वप्नदोष तथा बीमारियां छूती भी नहीं हैं। नीचे मर्दाना ताकत को बनाए रखने के लिए कुछ उपयोगी नुस्खे दिए जा रहे हैं। इनके प्रयोग से लाभ उठा सकते हैं।

Virya badhane ka Ayurvedic Treatment Hindi

virya badhane ayurvedic tratment

virya shukranu badhne ke desi ilaj

1 Virya badhane ka upay – प्याज, लहसुन व गाजर का रस एक-एक चम्मच की मात्रा में रोज कुछ दिनों तक सेवन करने से मर्दाना ताकत बढ़ती है।

2 Virya badhane ki dawa – 100-150 ग्राम देशी बबूल का गोंद देशी घी में भून लें और फिर इसे कूट-पीसकर महीन बनाकर आधा चम्मच गोंद फांककर ऊपर से दूध पिएं। यह एक वीर्यवर्द्धक नुस्खा है।

3 Virya badhane ka nuskha – दो-तीन माह आम का अमरस पीने से मर्दाना ताकत आती है। शरीर की कमजोरी दूर होती है। शरीर मोटा होता है।

4 Virya badhane ke gharelu nuskhe in hindi – नारियल कामोत्तेजक है। वीर्य को गाढ़ा करता है।

5 Virya badhane ke gharelu nuskhe – गाजर हर व्यक्ति के लिए शक्तिवर्द्धक है। वीर्य को गाढ़ा करती है। मर्दाना कमजोरी को दूर करने में रामबाण है। गाजर का रस पीना चाहिए।

6 Virya badhane ke tarike – प्याज कामवासना को जगाता है। वीर्य को उत्पन्न करता है। मर्दाना शक्ति बढ़ाने के लिए प्याज का रस और शहद मिलाकर पियें। सफेद प्याज का रस, शहद, अदरक का रस, देशी घी, प्रत्येक 6 ग्राम- इन चारों को मिलाकर चाटें।

7  Virya badhane ki ayurvedic dawa – प्रतिदिन अनार खाने से पेट मुलायम रहता है तथा कामेन्द्रियों को बल मिलता है।

8  Virya badhane ke aasan upay in hindi – शीघ्रपतन और पतले वीर्य वालों को छुहारे प्रातः नित्य खाने चाहिए, दूध में भिगोकर छुहारा खाने से इसके पौष्टिक गुण बढ़ जाते हैं।

9 Virya badhane ke ayurvedic upay – दोपहर के बाद दो केले, आधा छटाँक खजूर, एक चम्मच देशी घी खाकर ऊपर से दूध पीयें। इससे वीर्यपुष्टि होगी। केला शुक्रवर्धक है।

10 Virya badhane ki ayurvedic medicine – गरम दूध में पाँच बादाम पीस कर मिलायें। एक चम्मच देशी घी डालें। नामर्दी दूर करने के लिए सर्दी के दिनों में दूध में दो रत्ती केसर डाल कर पीयें।

11 Virya badhane ke ayurvedic nuskhe – 50 ग्राम लहसुन को देशी घी में तलकर प्रतिदिन खाने से नपुंसकता नष्ट होती है, कामशक्ति बढ़ती है।

12 Virya badane ka ayurvedic ilaj – 200 ग्राम लहसुन को पीसकर 600 ग्राम शहद मिलाकर शीशी में भरकर गेहूँ के ढेर या बोरी में एक माह दबा दें। एक माह बाद निकालकर 15 ग्राम प्रातः व शाम को खाकर गर्म दूध पीयें। यह प्रयोग एक माह करें। बहुत लाभ होगा। इससे बल, वीर्य बढ़ेगा।

13 Virya badhane ke desi nuskhe in hindi – प्रातः 5 कली लहसुन को चबाकर दूध पीयें। यह प्रयोग पूरी सर्दी नियम से करें।

14 Virya badhane ki dawa in hindi – मस्तंगी 4 ग्राम व बैगन के बीज 4 ग्राम इन दिनों को कूट-पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण में हल्की-सी ‘अगर’ मिलाकर खरल करके चने के बराबर गोलियाँ बना लें। रोज सुबह और शाम दो-दो गोली दूध के साथ सेवन करने से मर्दाना ताकत बढ़ती है।

15 Virya badhane ka desi ilaj – बबूल की कच्ची कलियाँ, मौलसिरी की सूखी छाल, शतावर व मोचरस आदि सभी 60-60 ग्राम की मात्रा में लेकर पीस लें। अब इसमें 300 ग्राम खांड़ मिलाएँ। 6 ग्राम चूर्ण का सेवन दूध के साथ करने से वीर्य पुस्ट होता है।

16 Virya badhane ka desi nuskha –  बंसलोचन, सत गिलोय, गोखरू व छोटी इलायची आदि सभी वस्तुएं 60-60 ग्राम की मात्रा में पीसकर एक शीशी में भर लें। इसमें से 10-12 ग्राम चूर्ण शहद मक्खन के साथ खाने से वीर्य बढ़ता है।

17 Virya badhane ki dawa patanjali – 400-500 ग्राम दूध में आधा चम्मच पिसी हुई सोंठ डालकर दूध को खूब अच्छी तरह से उबाल लें। इस तरह के दूध का लगभग 15-20 दिनों तक सुबह के समय सेवन करने से शारीरिक व मानसिक दोनों शक्तियों का विकास होता है।

18 Virya badhane ke gharelu upay hindi me – नीम की कोंपलें, शीशम की कोंपलें व बथुआ इन तीनों को 6-6 ग्राम लेकर चटनी बना लें। इसमें से 6 ग्राम चटनी का सेवन सुबह के समय दूध के साथ करने से पौरूष शक्ति बढ़ती है।

19 Virya badhane ka gharelu nuskhe – बरगद के पके हुए फल, पीपल के फल व नीम की निबौलियां- तीनों 150-150 ग्राम की मात्रा में सुखा लें। इसके बाद कूट-पीसकर चूर्ण बनाएं। इसमें से एक चम्मच चूर्ण रोज दूध के साथ सेवन करने से पौरूष शक्ति बढ़ती है।

20 Virya badhane ke gharelu upchar – गोरखमुण्डी, सोंठ, श्तावर व थोड़ी-सी भांग इन चारों को पीसकर उसमें मीठा होने लायक खांड़ मिला लें और इसे सुबह और शाम दूध के साथ खाएं। यह एक फायदेमंद नुस्खा है।

21 Virya badhane ke upay hindi me – कौंच के बीजों का चूर्ण 6-7 ग्राम, तालमखानों के बीजों का चूर्ण 7 ग्राम व पिसी हुई कूजा मिश्री 6 ग्राम-तीनों को मिलाकर रात में खाकर ऊपर से दूध पी लें। यह एक बढ़िया पुष्टिकारक व पौरूष शक्ति को बढ़ाने वाला नुस्खा है।

22 Virya badhane ka tarika hindi – ढाक का गोंद, बबूल का गोंद, शतावर, सफेद मूसली, काली मूसली, मुलहठी, असगंध व तालमखाने के बीज आदि सभी चीजें 100-100 ग्राम की मात्रा में कूट-पीसकर चूर्ण बना लें। अब इसमें 200-300 ग्राम कच्ची खांड़ मिलाएं। एक से दो चम्मच चूर्ण शाम को सोने से पहले दूध के साथ सेवन करने से यह कामशक्ति बढ़ाता है व नपुंसकता को नष्ट करता है।