Sugar Treatment Hindi

sugar desi ilaj

पेशाब के साथ जब चीनी (Sugar) जैसा मधु पदार्थ निकलता है, तो उसे मधुमेह रोग (Sugar) कहते हैं। यह रोग धीरे-धीरे होता है। डायबिटीज एक ऐसा रोग है जिसके रोगी को बहुत समय तक तो इस रोग का अहसास ही नहीं हो पाता। औरतों की अपेक्षा पुरुषों में यह रोग अधिक देखा गया है। मोटे आदमी अक्सर इस रोग से पीडि़त देखे जाते हैं। पहले यह रोग प्रायः 40-50 वर्ष की अवस्था में या इसके बाद होता था, लेकिन आजकल छोटे बच्चों के भी यह बीमारी देखी गयी है। मधुमेह रोग में पैतृक प्रभाव का भी बहुत अधिक हाथ है। Sugar Treatment hindi

sugar desi ilaj

sugar treatment hindi

Sugar Hone ke Karan – शुगर होने के कारण

शरीर में इंसुलिन नामक तत्त्व पाचन क्रिया से सम्बन्धित पेनक्रियाज ग्रंथि से उत्पन्न होता है, इससे शक्कर (Sugar) रक्त में प्रवेष करता है और वहाँ ऊर्जा में परिवर्तित हो जाता है। उक्त पेनक्रियाज ग्रंथि जितनी शरीर को शुगर (Sugar) की आवष्यकता होती है उतनी रख लेती है शेष शुगर (Sugar) को जला देती है। मगर यह पेनक्रियाज ग्रंथि इंसुलिन पैदा करना बन्द कर दे या कम कर दे या किसी कारण से यह रस बाधक हो तो डायबिटीज (मधुमेह) रोग पैदा हो जाता है। ऐसी अवस्था मेें शक्कर रक्त में चला जाता है और ऊर्जा में परिवर्तित नहीं हो पाता है तथा मू़त्र के द्वारा भी बाहर निकल जाता है।

Sugar Ke Types – शुगर (Sugar) दो प्रकार का होता है- 1 डायबिटीज मेलिट्रस (Madhumeh), 2 डायबिटीज इन्सिपिड्स (बहुमू़त्र)।

Type 1 Diabetes – Sugar Treatment

आप टाइप 1 Type 1 Diabetes है और एक स्वस्थ भोजन की योजना का पालन करें, पर्याप्त व्यायाम करते हैं, और इंसुलिन लेते हैं, आप एक सामान्य जीवन व्यतीत कर सकते हैं।

Type 1 Diabetes Lakshan –

इस अवस्था में शरीर में इंसुलिन का उत्पादन नहीं होता है. सभी मधुमेह के मामलों में लगभग 10% Type 1 Diabetes के होते है.

१. शरीर समुचित कार्य के लिए पर्याप्त इंसुलिन का उत्पादन नहीं करता। मधुमेह के सभी मामलों में लगभग 90% दुनिया भर में इस प्रकार के होते हैं।

२. खाना खाने के बाद भी बहुत भूख लगना।

३.त्वचा या मूत्रमार्ग में संक्रमण।

Type 2 Diabetes – Sugar Treatment

टाइप 2 रोगियों को जरुरी होता की वो स्वस्थ खाना खाए , शारीरिक रूप से सक्रिय हो , और उनके रक्त में ग्लूकोज का परीक्षण नियमित कराये ।

Type 2 Diabetes Lakshan –

(1) मांसपेशियों में दर्द।

(2) हर समय कमजोरी और थकान की शिकायत होना।

(3) मितली होना और कभी-कभी उल्टी होना।

(4) हाथ-पैर में अकड़न और शरीर में झंझनाहट होना।

Sugar bimari ke lakshan –

(1) मधुमेह (Sugar) की उत्पत्ति का कारण अग्न्याषय (पेनक्रियाज) में उत्पन्न होने वाले तत्व इंसुलिन की कमी माना जाता है। मूत्र और रक्त की जाँच से दोनों में शर्करा आना इसका सही निदान है। अधिक प्यास, अधिक भूख लगना, बार-बार पेषाब जाना, बार-बार फोडे़-फुँसी होना, घाव न भरना, पैरों में दर्द, नेत्र दृष्टि में गिरावट, कब्ज रहना, टी0 बी0, शर्करा अधिक बढ़ने पर दुर्बलता, घबराहट, रक्त संचार की वृद्धि, बेहोषी होती है। सिर-दर्द, कब्जी, चमड़ा सूखा, खुरखुरा, खुजली, घावों का न भरना आदि मधुमेह के लक्षण हैं।

(2) Jayda T.V Dekhna Sugar Ka Karan – यदा-कदा टीवी देखने की आदत शौक में शुमार होती है और इससे सेहत को कोई खतरा नहीं होता लेकिन यदि सप्ताह में 20 घंटे तक टीवी देखें तो हो सकता है कि आप मधुमेह को आमंत्रण दे रहे हैं। अमरीकी शोधकर्त्ताओं ने एक अध्ययन में कहा है कि सप्ताह भर में बीस घंटे तक टीवी देखेने वाले पुरुषों में आगे चलकर मधुमेह का खतरा बढ़ जाता है। कहा है कि टीवी देखने में अधिक समय व्यतीत करने से 40 वर्ष या उससे अधिक आयु के पुरुषों में मधुमेह का खतरा बढ़ जाता है। इस आयु वर्ग के अधिक वजनी वयस्क ही अमूमन रोग की चपेट में आते हैं। शोधकर्त्ताओं ने कहा है कि बैठे-ठाले टीवी देखने की जीवनषैली का मधुमेह से सीधा सम्बन्ध है। नियमित व्यायाम से मधुमेह से बचा जा सकता है।
(3) मधुमेह (Madhumeh) एक लंबी अवधि की स्थिति है जो उच्च रक्त शर्करा के स्तर का कारण बनता है|
(4) बार-बार पेशाब आना
(5) बहुत ज्यादा प्यास लगना।
(6) बहुत पानी पीने के बाद भी गला सूखना।
(8) सबसे आम Suagr Lakshan अक्सर पेशाब, तीव्र प्यास और भूख, वजन, असामान्य वजन घटाने, थकान, कटौती और घाव जल्दी ठीक नही होता , पुरुष यौन रोग, स्तब्ध हो जाना और हाथ और पैर में झुनझुनी शामिल हैं।

Sugar Treatment Hindi

(1) Sugar ke gharelu upchar in hindi – मधुमेह के रोगी को मीठी चीजें, जैसे- चीनी, गुड़, मिश्री, मीठे फल, चावल, मैदा की बनी चीजें नहीं खानी चाहिए। शारीरिक व्यायाम, भ्रमण, अल्प भोजन करना लाभदायक है।

(2) Sugar ke upchar – अगर डायबिटीज कन्ट्रोल में नहीं हो तो केवल गेहूँ की रोटी नहीं खानी चाहिए, जौ, चना, गेहूँ (तीन किलो जौ, एक किला गेहूँ , आधा किलो चना को मिलाकर आटा पिसवा लेना चाहिए) की रोटी खानी चाहिए।

(3) Sugar ka ilaj hindi me – हरी सब्जी, दाल, दही का सेवन अधिक करना चाहिए।

(4) Sugar ke gharelu nuskhe in hindi – करेले की सब्जी या कच्चा करेला और जामुन खाना चाहिए।

(5) Diabetes ka ayurvedic ilaj in hindi – हरड़-बहेड़ा-आँवला (त्रिफला) को समान मात्रा में लेकर चूर्ण बनाकर सेवन करना चाहिए इससे कब्ज भी नहीं रहेगी। उचित भोजन और शारीरिक परिश्रम से मधुमेह को ठीक किया जा सकता है।

Sugar Treatment –  Sugar ka desi ilaj hindi me – औषधियों से भी बिना भोजन द्वारा चिकित्सा का सहारा लिये यह ठीक नहीं हो सकता। निम्न भोज्य पदार्थों का अधिकाधिक सेेेेवन करके इस रोग को दूर करें- मधुमेह में शरीर में कमजोरी मालूम पड़ने लगती है। कमजोरी दूर करने हेतु हरा कच्चा नारियल खायें। काजू, मूँगफली, अखरोट भिगोकर खायें। दही, छाछ, सोयाबीन खायें।

(6) Sugar treatment in ayurveda hindi – मधुमेह के रोगी को हर सातवें दिन एक दिन का उपवास करना लाभदायक है। उपवास में फल, सब्जियाँ, फीका नीबू-पानी ही लें। अन्य चीजें नहीं खायें।

(7) Sugar ka gharelu ilaj – नीबू- प्यास अधिक होने पर पानी में नीबू निचोड़ कर पिलाने से मधुमेह में लाभ होता है। यह तीन बार नित्य पीयें।

(9) Sugar ka ayurvedic ilaj – नारंगी- मधुमेह के रोगी को 1 नारंगी दे सकते हैं। नारंगी के छिलके छाया में सुखा कर कूट लें। इनकी चार चम्मच एक गिलास पानी में उबाल कर छान कर नित्य पीयें।

(10) Sugar ki dawa hindi mai – आम- आम और जामुन का रस समान भाग मिलाकर कुछ दिनों तक पीने से मधुमेह रोग ठीक हो जाता है।

(11) Sugar ki bimari ka ilaj in hindi – आँवला- ताजे आँवलों के चार चम्मच रस में एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से मधुमेह रोग ठीक हो जाता है।

(12) Sugar ka gharelu ilaj – जामुन- मधुमेह के रोगी को नित्य जामुन खानी चाहिए। होम्योपैथी में मधुमेह के लिए जामुन का रस सीजीजीयम जेम्बोलिनम मदर टिंचर के नाम से काम में लिया जाता है।

(13) Sugar ka ilaj nuskha – जामुन की गुठली का चूर्ण आधा चम्मच शाम को पानी के साथ लेने से पेषाब में शर्करा आना ठीक हो जाता है।

(14) Diabetes ke upchar – जामुन की गुठली और करेले सुखा कर समान मात्रा में मिलाकर पीस लें। इसकी एक चम्मच सुबह-शाम पानी से फँकी लें।

(15) Sugar ka desi ilaj – टमाटर- मधुमेह के रोगी के लिए टमाटर बहुत लाभदायक है। मूत्र में शक्कर आना धीरे-धीरे कम हो जाता है। प्रमेह में भी यह उपयोगी है

(16) Sugar ka upay- गाजर- गाजर का रस 310 ग्राम, पालक का रस 185 ग्राम मिलाकर नमक, जीरा डालकर पीने से मधुमेह रोग में फायदा होता है।

Sugar Treatment  hindi me

(17) Sugar ki desi dawa in hindi – मूली- दो बार मूली खाने से या इसका रस पीने से मधुमेह में लाभ होता है।

(18) Sugar ka desi ilaj hindi me – मधुमेह के रोगी नित्य जामुन कहानी चाहिए।जामुन की गुठली का चूर्ण आधा चम्मच शाम को पानी के साथ लेने से शर्करा आना ठीक हो जाता है।

(19) Sugar Treatment in ayurveda – दिन में दो बार मूली खाने से या मूली का रास पीने से मधुमेह में लाभ होता है ।

(4) Sugar ka ilaj nuskha – गाजर का रास 310 ग्राम,पालक का रास 185 ग्राम मिलाकर नमक ,जीरा डालकर पीने मधुमेह के रोग में फायदा होता है।

(20) Sugar ka gharelu ilaj in hindi – मेथी दान 60 ग्राम बारीक पीस कर एक गिलास पानी में भिगो दे । इसे १२ घंटे बाद छानकर पिये। इस प्रकार सुबह -शाम दो बार नित्य 6 सप्ताह पीने से मधुमेह ठीक हो जाता है। इसके साथ मेथी के हरे पत्तो सब्जी भी खाए।

(21) Sugar ka desi ilaj in hindi – मधुमेह के रोगियों के लिए टमाटर भी बहुत लाभदायक है,प्रतिदिन टमाटर का सेवन मधुमेह में लाभ देता है ।

(22) Sugar ka ilaj in hindi – वट वृक्ष की छाल 24 ग्राम लेकर जौकुट करें और उसे आधा लीटर पानी के साथ क्वाथ करें। जब चौथाई पानी शेष रहे, तब अग्नि से उतार कर छानें और ठण्डा होने पर पीवें। नित्य प्रति 4.5 सप्ताह तक निरन्तर प्रयोग करने से मधुमेह का शमन होता है। प्रातः-सायं दोनों समय सेवन करें।

(23) Sugar Treatment hindi – चित्रक वृक्ष का पंचांग 6 ग्राम लेकर जौकुट करें और उसे आधा लीटर पानी के साथ पकावें। चौथाई शेष क्वाथ रहने पर, उतार छान कर पीवें। प्रातः-सायं निरन्तर 3.4 सप्ताह तक निरन्तर प्रयोग करने से मधुमेह में लाभ सम्भव है।

(24) Sugar best treatment – नीम पर चढ़ी गिलोय, यद्यपि अधिक कड़वी होती है, किन्तु लाभ भी अधिक करती है। ऐसी गिलोय 2 किलोग्राम लेकर छः गुने पानी में 8 घण्टे भिगोये रखें और फिर भवके से अर्क खींच लें और सुरक्षित रखें।
मात्रा- 5 चम्मच यह अर्क लेकर 3 ग्राम शहद और चौगुने गोदुग्ध में मिलावें फिर पीवें। इसका सेवन प्रातः-सायं दोनों समय 4.5 सप्ताह तक करने से लाभ होगा।

(25) Sugar ayurvedic treatment in hindi – बबूल के गोंद का चूर्ण 3 ग्राम पानी के साथ अथवा गोदुग्ध के साथ दिन में 3 बार नित्य लेना चाहिये। मधुमेह के लिये यह एक लाभकारी सरल प्रयोग है।

Sugar Treatment ayurvedic

(26) Sugar treatment at home – बबूल की कोमल पत्तियाँ उखाड़ कर लायें और उन्हें सिल पर जल योग से पीसें। साथ ही 4.5 काली मिर्च भी डाल दें और छान कर पीवें। इससे भी मधुमेह में लाभ सम्भव है। प्रातः-सायं दोनों समय पीवें

(27) – ayurvedic medicine for sugar control – जामुन की सूखी गुठलियों का चूर्ण भी मधुमेह में अत्यन्त लाभकारी है। मात्रा 5.6 ग्राम तक ताजा पानी के साथ दिन में दो या तीन बार सेवन करते रहने से लाभ होता है।

(28) Sugar ke gharelu upchar in hindi- जामुन की गुठली और गुड़मार बूटी समान भाग का चूर्ण 4.6 ग्राम तक प्रातः-सायं दोनों समय पानी के साथ लेना चाहिये। अनेक रोगियों को इससे लाभ होते देखा गया है

(29) sugar ki desi dawa in hindi – गूलर के पत्ते मधुमेह में लाभकारी हैं। उन्हें पानी के साथ सिल पर ठण्डाई के समान घोट कर पीना चाहिये। यदि कब्ज या अपच की षिकायत न हो, तो इस योग से लाभ उठाया जा सकता है।

(30) Sugar Treatment tips – गूलर का पका फल वृक्ष से तोड़कर, ताजा खाना भी हितकर है। ऊपर से ताजा पानी ही लेना चाहिए 10 बिल्वपत्र मधुमेह को मधुमेह को दूर करने वाले हैं। ताजा बेलपत्र 10.11 नग लेकर पानी के साथ सिल पर पीस कर पीवें। इससे कब्जयुक्त मधुमेही को अपेक्षित लाभ होता है।

(31) Type 1 Sugar Treatment – पके हुए अमरुद को दबा कर भरता बनावें और आवष्यकतानुसार नमक, काली मिर्च और जीरा मिला कर सेवन करें तो मधुमेह के अनेक लक्षण दूर होते है। कब्ज भी नहीं रहता।

(32) Sugar Treatment home remedy – छोटी दूधी का पंचांग छाया-षुष्क करके, चूर्ण कर लें। इसे 3.3 ग्राम की मात्रा में गोदुग्ध के साथ प्रातः-सायं सेवन करते रहने से मधुमेह में पर्याप्त लाभ होता है।

(33) Sugar Treatment by rajiv dixit in hindi – अर्जुन वृक्ष की छाल, कदम्ब की छाल तथा जामुन की छाल और अजवाइन समान भाग लेकर जौकुट करें। इसमें से 24 ग्राम जौकुट चूर्ण लेकर, आधा लीटर पानी के साथ अग्नि पर चढ़ा कर काढ़ा बनावें। अष्टमांष या कुछ अधिक शेष रहने पर उतारें और ठण्डा होने पर छानकर पीवें। प्रातः-सायं दोनों समय निरन्तर प्रयोग करने पर 3.4 सप्ताह में लाभ होना सम्भव है।

(34) Sugar ka desi ilaj hindi – मधुमेह के मरीजों को भूख से थोड़ा कम तथा हल्का भोजन लेने की सलाह दी जाती है। ऐसे में खीरा नींबू निचोड़कर खाकर भूख मिटाना चाहिए।

(35) Sugar ka gharelu upchar – मधुमेह उपचार मे शलजम का भी बहुत महत्व है । शलजम के प्रयोग से भी रक्त में स्थित शर्करा की मात्रा कम होने लगती है। इसके अतिरिक्त मधुमेह के रोगी को तरोई, लौकी, परवल, पालक, पपीता आदि का प्रयोग भी ज्यादा करना चाहिए।

(36) Sugar ke upay in hindi – 6 बेल पत्र , 6 नीम के पत्ते, 6 तुलसी के पत्ते, 6 बैगनबेलिया के हरे पत्ते, 3 साबुत काली मिर्च ताज़ी पत्तियाँ पीसकर खाली पेट, पानी के साथ लें और सेवन के बाद कम से कम आधा घंटा और कुछ न खाएं , इसके नियमित सेवन से भी शुगर सामान्य हो जाती है