Stomach Pain treatment- Pet Dard Ke Ashan 38 Ilaj

Stomach Treatment Hindi

Stomach Pain Treatment hindi –  पेट-दर्द- Pet Dard Desi Ilaj- पेट में प्रायः दर्द होता रहता है। पेट में दर्द होने के अनेक कारण होते हैं। सामान्यतया पेट में दर्द भोजन न पचने से होता है। पेट में किसी भी प्रकार का दर्द हो, बोतल में गर्म पानी भरकर सेंकने से आराम मिलता है। जब तक पेट-दर्द अच्छी तरह शान्त न हो जाये तब तक खाने को कुछ नहीं देना चाहिए। सोडावाटर पीना अच्छा है। चिकित्सा कारण और दर्द के निदान के अनुसार करनी चाहिए।

Stomach Treatment Hindi

Pet Dard thik Karne Ke 38 Gharelu Nuskhe

Stomach Pain –  Pet Dard Ke Simple 38 Gharelu Nuskhe

(1) दो चम्मच दाना मेथी में नमक मिलाकर सुबह-षाम दो बार गर्म पानी से फँकी लेने से पेट-दर्द ठीक होता है। यह 10-15 दिन लें।

(2) सौंफ और सेंधा नमक मिलाकर पीसकर दो चम्मच गर्म पानी से फँकी लें।

(3) काली मिर्च, हींग, सौंठ समान मात्रा में पीसकर सुबह-षाम गर्म पानी से आधा चम्मच फँकी लें।

(4) पिसी हुई लाल मिर्च गुड़ में मिलाकर खाने से पेट-दर्द में लाभ होता है।

(5) एक गिलास पानी में आधा चम्मच नमक मिलाकर पीने से पेट-दर्द में लाभ होता है। गर्म पानी में नमक मिलाकर पीने से शरीर में व्याप्त अनावष्यक तत्व भी निकल जाते है।

(6) पेट-दर्द में दो इलायची पीस कर शहद में मिलाकर चाटने से लाभ होता है।

(7) दालचीनी गैस से हुए पेट-दर्द को दूर करती है। इसका अल्प मात्रा में प्रयोग करें। अधिक मात्रा में हानिकारक है।

(8) खाने-पीने से होने वाला पेट-दर्द, अफीम खाने से हुई पेट की गड़बड़ और दर्द काॅफी पीने से दूर होता है। यह भोजन के बाद पीयें।

(9) प्रातः चाय जैसे गर्म पानी का एक गिलास पीने से कब्ज, बदहजमी दूर होती है। उसमें नीबू निचोड़ कर लेने से पेट में सड़न, गैस दूर होती है। पेट-दर्द दूर होता है।

(10) अनार के दानों पर काली मिर्च और नमक डाल कर चूसें। इससे पेट-दर्द बन्द हो जाता है। कम-से-कम 10 दिन लें।

(11) पेट में दर्द भूखे होने पर हो तो छाछ पीने से यह दर्द ठीक हो जाता है।

(12) यदि किसी चीज के खाने से पेट-दर्द हो जैसा कि प्रायः पेट-दर्द के रोगी पूछने पर बताते हैं कि पेट-दर्द खाने-पीने से बढ़ता है तो कुछ दिन शहद सेवन करने से लाभ होता है।

(13) 12 ग्राम नीबू का रस, 6 ग्राम अदरक का रस और 6 ग्राम शहद एक कप पानी में मिलाकर पीने से पेट-दर्द ठीक हो जाता है।

(14) नीबू की फाँक में काला नमक, काली मिर्च और जीरा भरकर गर्म करके चूसने से पेट का दर्द ठीक हो जाता है, कीड़े (कृमि) नष्ट हो जाते हैं। यह 10-15 दिन लें।

(15) पिसी हुई सौंठ एक ग्राम, जरा-सी हींग और सेंधे नमक की फँकी गर्म पानी से लेने से पेट-दर्द ठीक हो जाता है।

(16) पिसी हुई सौंठ और सेंधा नमक एक गिलास पानी में गर्म करके पीने से पेट-दर्द, कब्ज, अपच ठीक हो जाती है।

(17) हरड़ का चूर्ण एक चम्मच गर्म पानी से फँकी लेने से पेट-दर्द ठीक हो जाता है।

(18) पेट-दर्द में अमरूद की कोमल पत्तियाँ पीस कर पानी में मिलाकर पीने से आराम होता है।

(19) लहसुन का रस 5 बूँद नमक के साथ पिलाने से पेट-दर्द ठीक हो जाता है।

(20) पेट-दर्द में धनिये का शर्बत हितकारी है। दो चम्मच धनिया एक कप पानी में गर्म करके पीयें।

(21) बालक के पेट-दर्द, आँव, बदहजमी हो तो एक चम्मच धनिया और चैथाई चम्मच सौंठ एक कप पानी में उबाल कर पिलायें।

(22) 3 ग्राम पोदीना, जीरा, हींग, काली मिर्च, नमक-इन सबको पीस कर गर्म पानी से लेने से पेट-दर्द ठीक हो जाता है।

(23) सूखा पोदीना और चीनी समान मात्रा में मिलाकर दो चम्मच की फँकी गर्म पानी मिलाकर पीने से पेट-दर्द ठीक हो जाता है।

(24) हींग को गर्म पानी में घोलकर नाभि के आस-पास लेप करें तथा भुनी हुई हींग एक बाजरे के दाने के बराबर किसी चीज के साथ खिलायें। इससे पेट-दर्द ठीक में आराम होता है। यदि पेट-दर्द वायु रोकने से हो तो दो ग्राम हींग आधा किलो पानी में उबालें। चैथाई पानी रहने पर गर्म-गर्म पिला दें। हींग से बनी ऐसाफिटिडा मदरटिंचर की दस बूँद एक चम्मच पानी में मिलाकर पिलाने से लाभ होता है।

(25) मूली के रस में नमक और काली मिर्च डालकर पिलाने से पेट-दर्द ठीक हो जाता है।

(26) राई को पानी में पीसकर, पेट पर मलमल का कपड़ा बिछाकर, लेप करें। दस मिनट बाद हटा दें। पेट-दर्द में आष्चर्यजनक लाभ होता है।

(27) जीरा पीसकर शहद के साथ चाटने से पेट-दर्द ठीक हो जाता है।

(28) अजवाइन 2 ग्राम और नमक एक ग्राम गर्म पानी से देने से पेट-दर्द ठीक हो जाता है।

(29) 15 ग्राम अजवाइन, 5 ग्राम काला नमक और आधा ग्राम हींग- तीनो को पीसकर शीषी भर लें। एक गिलास पानी में दो चम्मच यह चूर्ण और नीबू निचोड़ कर मिला कर पीयें। पेट-दर्द ठीक हो जाता है। यह अपच, गैस से हो रहे दर्द में लाभ करता है।

(30) तुलसी और अदरक के रस को सम भाग लेकर गर्म करके पीने से पेट-दर्द में लाभ होता है। 12 ग्राम तुलसी का रस पीने से मरोड़ ठीक हो जाती है।

(31) थोड़ा सा पुदीना, दो चुटकी अजवायन, रत्ती भर हींग व दो चुटकी जीरा-इन सबको महीन पीसकर बच्चे को गर्म जल के साथ खिला दें।

(32) 2-3 लौंग का चूर्ण पानी में मिलाकर बच्चे को चाटने से पेट-दर्द ठीक हो जाता है।

(33) एक चुटकी हरड़ का चूर्ण गर्म पानी के साथ देने से दर्द दूर होता है।

(34) एक चम्मच सौंफ व एक चुटकी सेंधा नमक-दोनों को अच्छी तरह पीसकर पानी में मिलाकर बच्चे को चाटने से पेट-दर्द से राहत मिलती है।

(35) अजवायन को पानी में पीसकर पेट पर लेप करने से दर्द दूर हो जाता है।

(36) जल में असली हींग घोलकर पेट पर मलने से पेट-दर्द से राहत मिलती है।

(37) एक चम्मच प्याज के रस में काला नमक मिलाकर बच्चे को पिलाने से दर्द से छुटकारा मिलता है।

(38) जायफल, आम की गुठली व बच-इन तीनों को हल्के-से पानी में घिसकर बच्चे को पिला दें।