Orange Benefits Hindi

Orange Benefits hindi

Orange Benefits संतरा – नींबू वर्गीय फलों में संतरा स्वादिष्ट, पौष्टिक और उपयोगी फल है। इसे नारंगी भी कहा जाता है। संतरा ठंडा, तन और मन को प्रसन्नता देने वाला ग्रीष्मकाल में उपलब्ध रहने वाला एक फल है। शरीर को नई स्फूर्ति और शक्ति देने वाला संतरा मीठा, खट्ठा-मीठा और खट्ठा फल है।

  • संतरे (Santre) के वृक्ष नींबू के वृक्ष जैसे होते हैं। इसकी पत्तियां गहरी हरी और फल खुशबूदार होते हैं। फूल सुगंधित, सफेद और चार से आठ पंखुड़ियों वाले होते हैं। इसके फल गोलाकार कच्चे हरे और पकने पर पीले होते है। संतरा खट्ठा और मीठा दो प्रकार का होता है। भारत में संतरा महाराष्ट्र के नागपुर, आसाम के सिलहट और उत्तरप्रदेश में उगाया जाता है। संतरा सारे देश में उपलब्ध होने वाला फल है।
  • Orange Name In Differenet Indian Language  –
  1. Orange Name In Sanskrit – नारंग,
  2. Orange Name In Hindi – नारंगी,
  3. Orange  Name In Marathi – नारिग,
  4. Orange Name In Gujrati  – नारंगी,
  5. Orange Name In Bengali – कामला लेवु,
  6. Orange Name In Telgu  – दयाकाया, नारंगम,
  7. Orange Name In Kannad (कन्नड)-माधबला,
  8. Orange Name In Tamil – किचिलि, नारंगम्,
  9. Orange Name In Farsi – नारंज व
  10. संतरे का अंग्रेजी में Orange कहते हैं।
  11. Orange Name In Latin – साइट्रस औरिण्टम है।
  • Santre ke fayde in hindi – संतरे का उपयोग आमतौर पर रस पीने में किया जाता है। किसी भी रोग की दशा में जब कोई खाद्य पदार्थ ग्रहण नहीं किया जा सकता, संतरे का रस ग्रहण किया जाता है। संतरे की एक खासियत यह भी है कि यह भोजन को सुगमता से पचाने के योग्य बनाता है। संतरा प्रातः भूखे पेट या खाना खाने के 5 घण्टे बाद सेवन करने से सर्वाधिक फायदा करता है। संतरा खाने के एकदम बाद शरीर में ऊर्जा बनने लगती है। तमाम फलों के रसों में संतरे का रस या फल ऐसा है, जो कि हर आयु वर्ग में उपयोग किया जा सकता है।
    Orange Benefits hindi

    Santare Ke Gharelu Fayde

  • Santre ke chilke ke fayde – संतरे का फल, इसका रस फल के छिलके और फूल का औषधि के रूप में प्रयोग किया जाता है। औषधि के रूप में इसके छिलकों का प्रयोग उसके रूचिकर गुण के कारण होता है। प्रति 100 ग्राम संतरे में नमी 87.6 प्रतिशत, प्रोटीन 0.7 प्रतिशत, वसा 0.2 प्रतिशत, 0.3 प्रतिशत, रेशा 0.3 प्रतिशत, कार्बोहाइड्रेट 10.9 प्रतिशत, कैल्शियम 26 मिग्रा., फास्फेट 20 मिग्रा., लोहा 0.3 मिग्रा., विटामिन ‘सी’ 30 मिग्रा. तथा कैलोरी 59 होती है।
  • Santra khane ke fayde – संतरा शीतल, अम्ल मधुर, बलवर्द्धक, रक्तवर्द्धक, विषनाशक और प्यासनाशक है। यदि संतरा पका हुआ हो तो मीठा या खट्टा, तीखा, रूचिकारक, पचने में भारी कुछ दस्तावर और वातनाशक होता है। ज्वर की अवस्था में इसका उपयोग हितकारी है।
  • Orange health benefits in hindi – यह रक्त, पित्त, अतिसार, कृमि, पीलिया, हृदयरोग, टायफाइड, पेट के रोग, क्षय तथा छाती के विकारों में लाभकरी है। इससे मानसिक शक्ति और शारीरिक शक्ति सुदृढ़ होती है। नियमित रूप से संतरे खाने से मौसम की वजह से होने वाला जुकाम, संक्रामक ज्वर और रक्तस्त्राव की अधिकता से बचा जा सकता है।
  • Orange juice benefits hindi – संतरे का फल स्वाद में खट्ठा-मीठा, पाचक, अग्नि को तेज करने वाला, वातनाशक तथा आसानी से पचने वाला होता है। संतरे का रस प्यास, शारीरिक जलन तथा अरूचि को दूर करता है। इसके छिलके का प्रयोग कृमि, अपच, कमजोरी, विषम, ज्वर आदि में किया जाता है। इसके छिलके का तेल स्वाद रहित औषधियों में स्वाद लाने के लिए मिलाया जाता है। संतरे के गूदे के ऊपर की सफेद झिल्ली नहीं पचती, इसलिए संतरा खाने से पहले उसे फेंक देता चाहिए।
  • Santre ke ras ke fayde – कमजोर व्यक्तियों के लिए संतरे का रस रामबाण औषधि है क्योंकि इसमें महत्वपूर्ण औषधीय गुण है। संतरे के रस में विटामिन ‘ए’ और ‘बी’ साधारण मात्रा में तथा विटामिन ‘सी’ विशेष परिमाण में पाया जाता है। संतरे के रस में शर्करा, साइट्रिक एसिड, साइट्रिक आफ पोटाश 2, 3 प्रतिशत होता है। इसके अलावा टेनिन व क्षार 4.5 प्रतिशत होते है।

Orange Benefits Hindi – Santare संतरे Se Rog Ka Rogupchar.com

1- Orange fruit benefits for skin in hindi – नियमित रूप से सुबह और दोपहर को 1-1 गिलास संतरे का रस पीने से दुर्बलता दूर होकर शक्ति आती है।

2- Benefits of orange for skin – संतरे के छिलकों का पाउडर, देषी घी में मिलाकर लगाने से रूखी त्वचा कोमल व चमकदार हो जाती है।

3- Orange fruit benefits for face – संतरे के छिलकों का पाउडर, कच्चे दूध में मिलाकर लगाने से त्वचा में निखार आता है।

4- संतरे के छिलकों के पाउडर में, गुलाब जल व नारियल का तेल मिलाकर, चेहरे पर सुबह-षाम लगाने से त्वचा कोमल व गोरी हो जाती है।

5- Orange juice benefits for skin – संतरे का रस व मुलतानी मिट्टी मिलाकर लगाने से त्वचा की तैलियता कम हेाती है।

6- Orange benfit for blood pressure – 2 संतरे प्रतिदिन खाते रहने से रक्तचाप सामान्य होगा।

7- Khujali Dur Karta Hai Santra – नारंगी के छिलके पानी के साथ पीसकर खुजली वाली जगह पर लेप करके 1 घंटे बाद धोएं। साथ में संतरा खायें व रस पियें। पुरानी खुजली व तेज चलने वाली खुजली में लाभ होगा।

8-Kabj Dur Kare Santra – 1 गिलास रस में भुना जीरा व सेंधा नमक मिलाकर सुबह-शाम खाली पेट पीने से शीघ्र लाभ होता है।

9- Gas Ki Samsya Me Upyogi Santra – 1 कप संतरे के रस में सेंधा नमक अथवा सौंठ व काला नमक अथवा काली मिर्च मिलाकर कुछ दिन सेवन करने से अजीर्ण जड़ से समाप्त हो जाएगा।

10- Gas Me Turant Arma – आधा कप संतरे के रस में थोड़ी सी भुनी हुई हींग मिलाकर पियें, तत्काल लाभ होगा।

11-Weight Loss Kare Orange – संतरे के रस में शहद मिलाकर पीने से फायदा होता है।

12- Cough Thik Kare Orange – संतरे के रस में चुटकी भर नमक और 1 चम्मच शहद मिला कर पीने से टी.बी, दमा, जुकाम, बलगम होने व श्वास रोग में लाभ होता है।

13-Bukhar Me Upyogi Hai Santra – ज्वर के रोगी को इसका रस लाभकारी है। रोगी को प्यास लगने पर इसका रस पिलाएं या कलियां चूसने को दें। अतिशीघ्र लाभ होगा।

14- Orange peel benefits  – संतरे की कलियों का गूदा निकालकर, उस पर शक्कर डालकर गर्म करें और रोगी को सेवन कराएं।

15-Garmi aur Sardi Dono Me Fayde – गर्मी में ठंडे पानी के साथ और सर्दी में गर्म पानी से संतरे का रस पीने से लाभ होता है।

16-Kabj Roke – सुबह खाली पेट संतरे का रस प्रतिदिन पीने से कब्ज ठीक होगी व हिस्टीरिया की बीमारी हो तो दूर होगी।

17- Baccho Ke Pet Ke Rog Me Santra Faydemand – बच्चों के अतिसार व अन्य उदर रोगों में संतरे के रस में ताजा जल मिलाकर थोड़ा-थोड़ा मां के दूध अथवा गाय के दूध के साथ 3-3 घंटे पर देने से लाभ होता है।

18-संतरे का रस 3 गुना पानी में मिलाकर पियें।

19- Manjan kare – प्रतिदिन नारंगी खाने या रस पीने से लाभ होता है। इसके छिलकों को पीसकर इसका मंजन करें।

20-Ghav Jaldi Bhare Santra – संतरा खाने से घाव जल्दी भरता है।

21-Dast Roke Santra – संतरे का रस, दूध में मिलाकर पिलाने से दस्त में लाभ होता है।2 संतरे के छिलके 2 कप पानी में उबालें। आधा पानी रहने पर उसे छानकर गुनगुना ही पी जायें।

23-Sharir Ke Garmi Control Kare Santra – रोगी को दूध पिलाकर ऊपर से संतरा खिलावें अथवा दूध (ठण्डा) में संतरे का रस मिलाकर पिलाने से बेचैनी, छटपटाहट और गर्मी की तीव्रता शान्त हो जाएगी।

24-4 चम्मच संतरे के छिलकों का चूर्ण गुलाबजल मिलाकर पेस्ट बना लें। प्रतिदिन चेहरे पर मलें। चेचक के दाग हल्के पड़ जाएंगे।

25-संतरे के ताजे छिलकों को चेहरे पर रगड़े। इससे मुंहासों व झाइयों के दाग धीरे-धीरे गायब हो जाएंगे।

26-संतरे के ताजे छिलकों को चेहरे पर रगड़े। इससे भी दाग हल्के हो जाते है।

27-संतरे के छिलके व चिरौंजी पीसकर चेहरे पर मलने से मुंहासे ठीक हो जाते है।

28-संतरे के छिलको का चूर्ण पानी, दूध गुलाबजल या नींबू के रस में मिलाकर मुंहासों पर लेप करें। झांई, मुंहासे साफ हो जाएंगे व चेहरे का रंग भी खिल जाएगा।

29-संतरे की कलियों पर पिसी सौंठ व काला नमक डाल कर खाएं। एक सप्ताह में ही भूख अच्छी लगने लगेगी।

30-उल्टी आने या जी मिचलाने पर संतरे की कलियां चूसने से लाभ होता है। यात्रा करते समय संतरे का सेवन करना चाहिए।

31-प्रातः खाली पेट 1-2 संतरा खाकर गर्म पानी पीने या संतरे का रस पीने से गुर्दे के रोग में राहत मिलती है व गुर्दे स्वस्थ रहते है।

32-4 तोला संतरे का अर्क, 5 सफेद इलायची व 1 तोला मिश्री मिलाकर पीने से पित्त जनित दाह शांत हो जाती है।

33- संतरे का गूदा बांधने से पुराना नासूर भर जाता है।

34- संतरे का रस नाक में डालने से नाक से खून बहना रूक जाता है।

35- संतरे का रस व जवाखार के सेवन से सन्धिवात में फायदा होता है।

36- संतरे के छिलके 7 दिनों तक शराब में भिगोएं। यह सिरका लगाने से दाद-खाज ठीक हो जाते हैं।

37- संतरे के फूल का अर्क पीने से स्नायु दुर्बलता और हिस्टीरिया जैसे विकार दूर हो जाते है।

38- 30 ग्राम संतरे के रस में, शहद मिलाकर दिन में 3-4 बार पीने से गर्भावस्था में होने वाली उल्टी, अपच व अतिसार रोग ठीक हो जाते है।

39- संतरे के छिलकों का चूर्ण चाटकर, रस पीने से गर्भवती को वमन और अतिसार में लाभ होता है।

40- संतरे के छिलकों को 4 कप पानी में उबालें। पानी जब 1 कप रह जाए तब उतार कर छान लें और इसमें 1 माशा हींग घोल दें। इस पानी को दिन में तीन बार 1-1 चम्मच पिलाने से बच्चों के पेट के कीड़े नष्ट हो जाते हैं।

41- 1 गिलास संतरे के रस में जरा सी काली मिर्च मिलाकर प्रतिदिन पीने से नेत्र ज्योति बढ़ती है।

42- बच्चों को नियमित रूप से संतरे का रस पिलाते रहने से वे थोड़े समय में हस्ट-पुष्ट हो जाते है। सूखा रोग दूर होता है।

43- संतरे व अंगूर का रस समभाग मिलाकर पिलाने से लाभ होता है।

44- भोजन के बाद 2 संतरे प्रतिदिन सेवन करने से पेट का भारीपन अपच एवं वायु विकार से छुटकारा मिलता है।