Lower Back Pain Treatment

Lower Back Pain Treatment

Back-Pain type Lower Back pain, Upper Back Pain.जाने Kmar dard 25 gharelu nuskhe Back pain Causes Treatment Back Pain Jo gharelu upay , gharelu Upchar, Desi Ilaj Hai jo Ayurved pe Based Hai

कमर दर्द के २५ सर्वोत्तम घरेलु नुस्खे

Lower back Pain Kyo Hota ?

कमर दर्द (Kamar Dard) प्रायः गलत उठक-बैठक, गलत रहन-सहन, ज्यादा वजन सामान उठाने आदि के कारण होता है। इस रोग में दवा व कमर को सही ढंग से सीधा करके रखना चाहिए।

Lower Back Pain Treatment

Lower Back Pain Treatment

Causes of Back Pain- Kmar Dard Ke Karan (कमर दर्द का कारण)

कमर दर्द का रोग ज्यादा देर तक खडे़ रहकर या बैठकर कार्य करने वालों को होता है। बैठने व खडे़ रहने की वजह से कमर की नसें तन जाती हैं, जिसके कारण दर्द शुरू हो जाता है। इसके अलावा ज्यादा वजनदार सामान उठाने, नरम गद्दों पर सोने व नसें चढ़ जाने आदि कारण भी मांसपेषियों में ख्ंिाचाव आ जाता है और कमर दर्द शुरू हो जाता है।

 

Kmar Dard Ke Lakshan (कमर दर्द के लक्षण)

कमर में ज्यादा दर्द, सुबह उठने या बैठने पर दर्द, झुकने पर दर्द, चलने पर दर्द आदि कमर दर्द के लक्षण हैं। इस रोग की दवा के साथ-साथ कुर्सी पर बैठना चाहिए व लकड़ी के तख्त पर सोना चाहिए।

Kmar Dard Ke Gharelu Upchar, Upay, Nuskhe Rog Upchar- Back Pain Treatment in Hindi

घरेलु नुस्खे

Rog Upchar/Home Remedies/Desi Nuskhe/Ayurvedic Upchar/Gharelu Upay

  • Back Pain yoga – पन्द्रह-बीस ग्राम अजवाइन की पोटली बांध लें। फिर उसे तवे पर गर्म करके दस मिनट तक कमर की सिकाई कम से कम बीस दिनों तक रोज करें।
  • home remedies for lower back pain -लौंग का तेल सरसों के तेल में मिलाकर कमर पर मलने से कमर का दर्द जाता रहता है।
  • Kamar Dard in Hindi -सहिजन के फलियों की सब्जी खाने से कमर दर्द दूर होता है।
  • Desi nuskhe for kamar dard -सरसों के तेल में थोड़ी सी अफीम डालकर पकाएं। फिर इस तेल से कमर की मालिष करने से दर्द दूर हो जाता है।
  •  Lower Back-Pain treatment  -पन्द्रह-बीस ग्राम ग्वारपाठा का गूदा लेकर रोटी के साथ खाने से कमर दर्द का रोग दूर हो जाता है।
  • treatment for back pain – असगंध व सोंठ बराबर की मात्रा में लेकर पीस लें। रोज दो-तीन ग्राम चूर्ण सुबह के समय दूध के साथ सेवन करने से कमर दर्द ठीक हो जाता है।
  • Home remedies for Back-Pain –  सोंठ व तुलसी के बीजों का काढ़ा बनाकर सेवन करने से कमर दर्द ठीक हो जाता है।
  •  Back-Pain patanjali  -बरगद के पेड़ से पाँच-छह मुलायम कोंपलें लेकर चटनी पीस लें, सुबह नाष्ते के बाद गुनगुने पानी से यह यह चटनी खाने से कमर दर्द ठीक हो जाता है।
  • treatment for lower back pain – राई व सरसों का तेल समान मात्रा में लेकर कमर की मालिष करने से आराम मिलता है।
  • upper back pain relief-जायफल के चूर्ण को सरसों के तेल में मिलाकर पका लें,फिर इस तेल को कमर पर मलने से कमर दर्द ठीक हो जाता है।
  • Kamar dard in hindi -सोंठ का चूर्ण पानी में उबालकर काढ़ा बनाकर सेवन करने से कमर दर्द से छुटकारा मिलता है।
  • Ayurvedic medicine for pain in the lower back -दूध में दो चम्मच सोंठ का चूर्ण डालकर उबाल लें। इस दूध का सेवन रात को सोते समय करने से कमर दर्द ठीक हो जाता है।
  • Back-Pain problem -राई, सरसों, तिल व कपूर इन सबको समान मात्रा में लेकर अच्छी तरह पीसकर मिला लें। फिर कमर पर पन्द्रह-बीस मिनट तक मालिष करने से दर्द गायब हो जाता है।
  •  Peeth dard ka ilaj -खसखस तथा मिश्री समान भाग में लेकर कूट पीसकर चूर्ण बनाने तथा इसे दो चम्मच (पाँच ग्राम)
  • Upper left back pain -रोजाना प्रातः तथा सायं खाने से और ऊपर से गर्म दूध पीने से कमर दर्द का रोग दूर हो जाता है।
  •  Treatment of back pain – कमर दर्द, घुटनों का दर्द तथा गठिया में नित्य प्रातः खाली पेट तीन चार अखरोट की गिरियों को अच्छी तरह चबाकर खाने से बहुत लाभ होता है,दो सप्ताह नियमित रूप से लें।
  • Back pain treatment hindi-रात्रि में साठ ग्राम गेहँू के दाने पानी में भिगो दें,प्रातः भीगे हुए गेहँू के साथ तीस ग्राम खसखस और तीस ग्राम धनिया मिंगी मिलाकर बारीक पीस लें। एक चटनी के समान बन जाएगी। इस चटनी को दूध में पका लें, इसे पाँच ग्राम की मात्रा में दो सप्ताह तक खाने से कमर-दर्द समाप्त होकर शक्ति की उत्पत्ति होती है, पाचन-षक्ति की कमजोरी भी इससे घटती है।
  • Lower Back pain ke gharelu nuskhe upay upchar-आंवले के रस में घी व चीनी मिलाकर पीने से भी गठिया रोग में लाभ होता है।
  •  Kamar dard ka ilaj baba ramdev -तारपीन के तेल की मालिष करने पर कमर दर्द नहीं रहता।
  •   Kmar dard ka gharelu upchar in hindi -नित्य खाली पेट तीन-चार अखरोटों की गीरी चबा-चबाकर खाने से भी कमर-दर्द नहीं रहता।