Khansi-Cough (खांसी) Treatment Hindi

Khansi-Cough (खांसी) Treatment Hindi

Khansi-Cough (खांसी) Treatment Gharelu Upay Hindi

1. कप पानी में आधा कप बारीक कटे हुए अदरक की फांके और दालचीनी के 2 छोटे टुकड़ों को 20 मिनट तक धीमी आंच परपकाएं। बाद में इसे छान लें और चीनी या शहद के साथ मिलाकर दिन में 3 से 4 बार बच्चे को पिलाएं। 1 साल से कम आयु के बच्चों को बराबर मात्रा में गर्म-पानी मिलाकर पिलाएं ।

2.मां का दूध बच्चे के लिए अति महत्वपूर्ण है, खासकर जब वे बीमार हों यह उन्हें अदभुत संतुलित पोषक-तत्वों की श्रृंखला प्रदान करता हैजोकि उन्हें संक्रमण से लड़ने और शीघ्र स्वस्थ होने में सहायता करते हैं। 6 माह से कम आयु के शिशुओं को, सर्दी-खांसी से निजात दिलवाने के लिए, स्तनपान कराना चाहिए।

3.अदरक के दो बड़े टुकड़ों को छीलकर बारीक काट लें।चार गिलास पानी में इस अदरक को 15 मिनट तक उबालें इस पेय के तीन हिस्से कर लें। हर आठ घंटे बाद एक हिस्सा पिएं।

4.तीन-चार मुनक्के लेकर उसके बीज निकाल लें और तवे पर भून लें। फिर उसमें काली मिर्च का चूर्ण मिलाकर खाएं।

5.कफ वाली खांसी के लिए आधा चम्मच इलायची का चूर्ण तथा आधा चम्मच सोंठ का चूर्ण लेकर शहद में मिलाकर दिन में तीन-चार बार चाटें।

Khansi-Cough (खांसी) Treatment Hindi

Khansi-Cough (खांसी) Treatment Hindi

6.आधा कप गर्म पानी में आधा चम्मच पिसी हलदी और एक चुटकी सेंधा नमक डालकर दिन में तीन-चार बार पिएं।

7.100 ग्राम पानी में थोड़े-से मौलसिरी के फूल भिगो दें। सुबह के समय उबाल कर इसे पी जाएं। यह सूखी खांसी के लिए रामबाण दवा है।

8.एक चम्मच मेथी के दानों को एक कप पानी में उबालें। पानी जब आधा रह जाए, तो उसे छानकर पिएं।

9.मुलेठी 5 ग्राम, काली मिर्च 5 ग्राम, सोंठ 5 ग्राम, एक छोटी गांठ अदरक। इन सबको एक कप पानी में उबाल लें। फिर इनका काढ़ा बनाकर सुबह-शाम सेवन करें।

10.यदि छाती पर कफ जम गया हो, तो 50 ग्राम कुचला धनिया, 10 ग्राम काली मिर्च, 5 ग्राम लौंग और 100 ग्राम सोंठ लेकर, इन्हें पीसकर चूर्ण बना लें। इसमें से आधा चम्मच चूर्ण सुबह शहद के साथ चाटें।

11.एक गिलास गर्म दूध के साथ आधी चम्मच हल्दी पाउडर मिलाए और बेहतर राहत पाने के इस मिश्रण को गरम ही पीए।

12.रात के समय सूखी खांसी से राहत के लिए बस सोने के पहले कुछ शहद के साथ एक गिलास गर्म दूध पीना एक कारगर तरीका है।

13.एक गिलास गर्म पानी में शहद और नींबू का रस मीलाकर दिन में तीन बार पीने से सूखी खांसी से राहत मिलती हैं।

14.एक कप पानी में अदरक के टुकड़ों को ड़ाल कर इस मिश्रण को आधि मात्रा होने तक उबालकर छान के इसमे एक चम्मच शहद डालकर पीने से गले में राहत मिलती हैं।

15.तुलसी के बीजों का दो-दो चुटकी चूर्ण सुबह-शाम शहद के साथ चाटें।

16.4-5 दानें काली मिर्च, आधा चम्मच सोंठ तथा चार लौंग का चूर्ण। तीनों को शहद के साथ सेवन करें।

17.काली मिर्च और मुलेठी लेकर पीस लें। फिर इसे गुड़ में मिलाकर मटर के बराबर की गोलियां बना लें। दो गोली सुबह और दो गोली शाम को पानी के साथ सेवन करें।

18.एक छोटे चम्मच घी में तली लहसुन की पांच कलियाँ ख़ानें से खाँसी और सर्दी से राहत मिलती हैं।

19.मुनक्का के बीज निकालकर इसमें काली मिर्च रख कर चबाये और मुख में रखकर सो जाए। पांच सात दिन में खांसी में आराम आ जायेगा।

20.काली मिर्च बहुत बारीक पीसी हुयी, चार गुना गुड मिलकर आधा आधा ग्राम की गोलिया बना ले। दिन में तीन – चार गोलिया चूसने से हर प्रकार की खांसी दूर होती हैं।

21.आंवला सूखा और मुलहठी को अलग अलग बारीक करके चूर्ण बना ले। और मिलाकर रख ले। इसमें से एक चम्मच चूर्ण दिन मे दो बार खाली पेट प्रात : सांय दो सप्ताह आवश्यकतानुसार ले। छाती में जमा हुआ बलगम साफ़ हो जायेगा।

22.सूखी खांसी में पान के सादे पत्ते में एक ग्राम अजवायन रखकर चबा चबाकर रस निगलने से सूखी खांसी मिटती हैं।

23.केवल अजवायन एक दो ग्राम खाकर ऊपर से गर्म पानी पीकर सो जाने से सूखी खांसी तथा दमा और श्वांस रोग में शीघ्र लाभ होता हैं। फेफड़ो के रोगो में अजवायन का प्रयोग करने से कफ की उत्पत्ति कम होती हैं।

24.छोटी इलायची के दानें तवे पर भूनकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण में देसी घी या शहद मिलाकर सुबह-शाम सेवन करें।

25.बार-बार खांसी उठने पर छोटी इलायची या लौंग चूसने से काफी आराम मिलता है।