Dark Circles Treatment In Hindi

Ankho se Dark Circle hatane Ke gharelu upchar

Dark Circles Treatment In Hindi

Ankho se Dark Circle hatane Ke gharelu upchar

Dark Circle Ayurvedic Treatment Hindi

आंखों के इर्द-गिर्द काले निषान (Dark Circle) और झुर्रियां पड़ जाने पर सुंदर-से-सुंदर चेहरे और झील-सी गहरी आंखों का आकर्षण खत्म हो जाता है। आंखों के ऊपर व नीचे की त्वचा चेहरे के अन्य हिस्सों की अप्रेक्षा काफी पतली व नाजुक होती है। आंखों के नीचे माॅइष्चराइजर ग्लैंड नहीं होती, इसलिए इस हिस्से पर उम्र, तनाव व लापरवाही का प्रभाव शीघ्र पड़ता है।

Dark Circle Hone Ke Karan – डार्क सर्कल उत्पन्न होने के कारण

शरीर में खून की कमी, यूरीन इंफेक्षन (पेषाब का संक्रमण), कुपोषण, अनिद्रा, डायटिंग, कब्ज, थकान, नींद पूरी न होना, देर रात तक जागना, अति मैथुन, मानसिक तनाव, चिंता, शक्ति से अधिक शारीरिक श्रम करना, अपर्याप्त रोषनी में काम करना या पढ़ना, लंबी बीमारी, एंटी-बाॅयटिक दवाओं का अधिक व नियमित इस्तेमाल करना, गहरा मेकअप करना, धूम्रपान या मादक द्रव्यों का इस्तेमाल करना, आनुवंषिकता आदि कारणों से आंखों के नीचे डार्क सर्कल उत्पन्न हो जाते हैं। किसी-किसी महिला को प्रसव के बाद हार्मोनों की गड़बड़ी के कारण भी डार्क सर्कल की समस्या उत्पन्न हो जाती है।

Dark Circle में इन बातों पर ध्यान दें

1 –  आंखों के स्वास्थ्य एवं सुंदरता के लिए, कम से कम आठ घंटे अवष्य सोना चाहिए। इसलिए नींद पूरी लें।

2 – अधिक सोना भी आंखों के सौन्दर्य के लिए हानिकारक होता है। अतः आवष्यकता से अधिक नहीं सोना चाहिए।

3- अधिक तेज या कम रोषनी में लिखाई-पढ़ाई या अन्य काम न करें।

5- अधिक देर तक लगातार टी.वी. देखने से आंखों के स्वास्थ्य व सौंदर्य पर प्रभाव पड़ता है।

6- धूल, धूप, धुआं, तेज रोषनी, घटिया सौंदर्य सामग्री आदि से आंखों को बचाएं।

7- लेटकर या झुककर पुस्तक न पढ़े। इससे आंखे प्रभावित होती हैं। हमेषा रीढ़ की हड्डी को सीधे रखकर पुस्तक पढ़े। रीढ़ की हड्डी को सीधा रखने के लिए कुर्सी पर सीधा बैठें। अधिक नजदीक या अधिक दूरी पर पुस्तक रखकर पढ़ने से भी आंखों पर बुरा असर पड़ता है। मंद प्रकाष, चलती बस या ट्रेन में पुस्तक न पढ़े।

8- अधिक हिंसा, बीभत्स, भयानक व तनाव वाली फिल्में न देखें। ये आंखों पर गलत प्रभाव डालती हैं।

9- चिंता, मानसिक तनाव, क्रोध से बचें। यह भी आंखों के सौंदर्य को नष्ट कर देते हैं।

10- धूम्रपान आंखों के सौन्दर्य के लिए हानिकारक होता है। लगातार धूम्रपान से आंखों के नीचे झुर्रियां व कालापन आ जाता है।

11- इलेक्ट्रिक हेयर ड्रायर का लगातार इस्तेमाल करने से तथा बार-बार खिजाब लगाने से आंखों का सौंदर्य प्रभावित होता है।

12- खुषी हो या गम, आंसुओं को रोकें नहीं, बह जाने दें। आंसुओं को रोकने से आंखों का सौन्दर्य नष्ट होता है।

13- दिनभर में आठ-दस गिलास पानी अवष्य पिएं। पानी शरीर की गंदगी को साफ करता है तथा आंतरिक कोषिकाओं की आर्द्रता को बनाए रखता है।

14- लगातार उपवास या डायटिंग करने से आंखों का सौंदर्य बिगड़ जाता है।

16- आंखों के आस-पास गहरा मेकअप न करें। इससे आंखों के आस-पास की कोमल त्वचा के स्टोमेटा (रंध्र) बंद हो जाते हैं, जिससे त्वचा को पर्याप्त मात्रा में पोषण व आॅक्सीजन नहीं मिल पाती है।

Dark Circle Treatment Hindi

17- आंखों के नीचे की त्वचा काफी नाजुक होती है। इसलिए आंखों के नीचे मसाज न करें। मसाज करने से वहां की त्वचा ढीली होकर लटक जाती है।

18- आंखों के सौंदर्य को बनाए रखने के लिए अपने आहार में विटामिन ‘ए’ व ‘डी’ युक्त खाद्य पदार्थ, हरी सब्जी, सलाद, ताजे फल, दूध, दही, पनीर अंकुरित खाद्यान्न आदि शामिल करें।
डार्क सर्कल दूर करने के उपाय

19- आलू को पीसकर पतले कपडे़ में रखकर पोटली जैसा बना लें। इसे आंखों के नीचे हल्के हाथों से मलें। आलू में पाया जाने वाला एंजाइम डार्क सर्कल को दूर करता है। यह प्रयोग नियमित कर सकते हैं।

20- एक चम्मच गुलाबजल, एक चम्मच ककड़ी का रस अच्छी तरह से मिला लें। इसे रूई के फाहे से आंखों के नीचे लगाएं। गुलाबजल और ककड़ी में पाए जाने वाले तत्व कैल्षियम, फास्फोरस, आयरन, मैग्नीषियम, विटामिन ‘सी’, विटामिन ‘ई’ आदि तत्व डार्क सर्कल को दूर कर देते हैं तथा त्वचा को पोषण देकर आंखों को सुन्दर बनाते हैं।

21- एक चम्मच खीरे का रस, चार बूंद शहद, चार बूंद आलू का रस, चार बूंद बादाम का तेल अच्छी तरह मिला लें। रूई के फाहे से आंखों के डार्क सर्कल पर लगाएं।

22- पुदीना की कोमल पत्तियों को बारीक पीस लें। इस पेस्ट को आंखों के डार्क सर्कल पर लगाएं, पुदीना की पत्तियों में अधिक मात्रा में कैल्षियम, फास्फोरस, आयरन, विटामिन ‘ए’ आदि तत्व पाए जाते हैं।

23- रात को एक बादाम दूध में भिगोकर रखें। सुबह उठकर बादाम को घिस लें। इसे आंखों के डार्क सर्कल पर लगाएं। सूख जाने पर पानी से साफ कर लें।

24- खीरे को काटकर घिसने से जो झाग निकलता है, उस झाग को डार्क सर्कल पर लगाने से डार्क सर्कल दूर होते हैं। इस झाग में एक प्रकार का एंजाइम पाया जाता है, जो कालेपन को दूर कर देता है।

25- तुलसी के पत्तों को अच्छी तरह पीसकर आंखों के नीचे लगाएं। पंद्रह मिनट बाद ठंडे पानी से साफ कर लें।

26- एक चम्मच टमाटर का रस, दो बूंद नीबू के रस में मिलाकर डार्क सर्कल पर लगाएं। दस मिनट बाद पानी से साफ कर लें। यह त्वचा में निखार लाता है और कालेपन को दूर करता है।

27- आधा चम्मच शहद में दो-तीन बूंद संतरे का रस मिलाकर डार्क सर्कल पर लगाएं। दस-पन्द्रह मिनट बाद पानी से साफ कर लें। संतरा न होने पर मौसमी या नीबू का रस मिलाया जा सकता है।
थकी आंखों के लिए उपाय-

28- आंखे थकी हुई महसूस होने पर, आंखे बंद करके कुछ देर के लिए लेट जाएं। इससे आंखों की कोषिकाओं व तंत्रिकाओं को आराम मिलेगा और आंखों की थकान दूर होगी।

29- गर्मी के दिनों में आंखे थकी होने पर, बर्फ के टुकड़ो को किसी कपड़े में लेकर आंखों पर रखें। इससे आंखों की लालिमा दूर होगी। बर्फ आंखों की त्वचा और मांसपेषियों में संकोचन उत्पन्न कर रक्त प्रवाह को तेज कर देती है, जिससे आंखों की थकान दूर हो जाती है।

30- रूई के फाहे में गुलाबजल लेकर थकी आंखों पर रखें। 5-10 मिनट तक शांति से लेट जाएं। इससे थकी आंखों को काफी राहत मिलेगी। गुलाबजल में पाए जाने वाले तत्व आंखों की थकान दूर करने के साथ-साथ आंखों को ऊर्जावान भी बनाते हैं।

31- खीरे को गोलाइयों में काटकर थकी आंखों पर रखने से आंखों को राहत मिलती है। खीरे में पाए जाने वाले तत्व आंखों की थकान को शीघ्र दूर कर देते हैं। यह आंखों की त्वचा के लिए भी काफी लाभदायक होता है।