Navjat Shishu Ki Dekh Bhal-After Pregnancy
Navjat Shishu Ki Dekh Bhal hindi
Navjaat Shishu Ki Dekhbhal Navjat shishu Ki Dekhbhal Kaise Kare? एक स्वस्थ बच्चे को जन्म देना ही माँ की सबसे बड़ी संतोषजनक बात है गर्भस्थ शिशु जो अपने माँ के अंगो से एक जटिल संपर्क द्वारा अपना जीवन व्यतीत करता है, जन्म के कुछ समय के बाद अपने आपको इस संसार में रहने के लिए तैयार कर लेता है यह प्रकृति की एक रहस्यभरी कहानी है. प्रसव के बाद बच्चे के पहली सांस के साथ ही उसके अतरिक्त अंगों मेंर भारी परिवर्तन...

Read More

Urine Problem 22 -Gharelu Nuskhe
Urine Peshab Problem 22 Treatment Hindi
Urine Problem -पेशाब ज्यादा आना (Peshab Jayda Anna) 1-रात में छुहारा खाकर दूध पीने से बार-बार पेशाब आना कम हो जाता है। 2-नित्य सेब के सेवन से भी पेशाब आना कम हो जाता है। 3-गाजर का जूस पीने से भी पेशाब ज्यादा आने की समस्या कम हो जाती है। 4-पालक का सेवन करने से भी पेशाब ज्यादा आने की समस्या कम हो जाती है। 5-अंगूर के सेवन से भी पेशाब ज्यादा आने की समस्या कम हो जाती है। 6-सुबह नाश्ते में...

Read More

Pregnancy Care In Hindi – गर्भावस्था में होने बीमारी और उनके इलाज
Pregnancy Me Hone Me Rog
Pregnancy  Care - Pregnancy Me hone Vali Rog Aur Un Rogo Ka Rog Upchar [caption id="attachment_830" align="aligncenter" width="300"] pregnancy care tips - grabh kaal me hone vali bimari[/caption] 1- गर्भावस्था (Pregnancy) में उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure ) की समस्याएँ (Problem) - गर्भ धारण करने के बाद महिलाओं में उच्च रक्तचाप हो जाना आम समस्या है। यदि उच्च रक्तचाप से पीड़ित महिलाएँ गर्भ धारण करती हैं तो उनका रक्तचाप अचानक बढ़ सकता है, जिसकी रोकथाम करना कठिन होता है। गर्भावस्था...

Read More

Lips Treatment Hindi
hotho ko khubsurat bananne ke gharelu nuskhe
Lips treatment HIndi - होंठों का फटनाहोंठों का फटनारोग- जाड़े के मौसम में अगर पेट में गर्मी हो जाती है तो होंठ फट जाते हैं। कभी-कभी अत्यधिक गर्मी व लू के कारण भी होंठ फट जाते हैं।  रोग का कारण- इधर-उधर की चीजें व तेज मिर्च-मसाले वाली चीजें खाने से पेट में गर्मी उत्पन्न हो जाती है। इस कारण होंठ फट जाते हैं। इसके अलावा सर्दी के मौसम में अत्यधिक सर्दी व पेट में गर्मी के कारण भी होंठ फट जाते...

Read More

Garbhpat Rokne Ke Gharelu Nuskhe
Garbhpat
Garbhpat  Rokne Ke Gharelu Nuskhe गर्भ स्त्राव तीन माह से पूर्व यदि गर्भ गिरता है तो गर्भस्त्राव कहलाता है। जब गर्भस्त्राव होता है तो रक्तस्त्राव होने लगता है। केवल रक्तस्त्राव ही होता है, तो यह ज्ीतमंजमदमक ।इवतजपवद कहलाता है। यदि रक्तस्त्राव के साथ दर्द रहे तो गर्भस्त्राव होने की अत्यधिक सम्भावनायें होती हैं। Garbhpat Hone Ke Karan Garbhpat hone ke karan  - नई बीमारियाँ, जैसे-निमोनिया, संक्रामक-ज्वर, पुरानी बीमारियाँ, जैसे-सिफलिस, टी.बी.। गर्भाशय सम्बन्धी खराबी, पेट में आघात लगना, भय, मानसिक आघात, बच्चे...

Read More

Wordpress Content Copy blocker plugin by JaspreetChahal.org