Dast Loose Motion |दस्त रोकने 23 अचूक इलाज
Dast Ka Desi Ilaj
Dast दस्त Loose Motion  रोकने Rokane के उपाय  Upay 1-एक गिलास गर्म पानी में आधा चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर पिएं। 2-अनार के जूस का सेवन करना चाहिए यह दस्त को लम्बे समय तक होने से रोकता है। (Stomach Pain-Pet Dard) 3-ज्यादा दस्त आने से शरीर में पानी की कमी हो सकती है इसलिए पानी ज्यादा से ज्यादा पीना चाहिए। 4-दही में केला मिलाकर खाएं इससे दस्त में आराम मिलता है। 5-दस्त होने पर बिना दूध वाली काली चाय पिएं। [caption...

Read More

Sour Burps Home Remedies- खट्टी डकार  Khatti Dakar
Sour Burps Khatti Dakar
Sour Burps खट्टी डकार  Khatti Dakar Home Remedies -अनार के दानों पर काला नमक डालकर खाने से गैस में आराम मिलेगा। -गुनगुने पानी में नीबू को निचोड़कर पीने से पेट में आराम मिलता है। -अजवायन को भूनकर पीस लें उसमें काला नमक मिलाकर पानी से ले। -पुदीने की पत्तियों को उबालकर पीने से पेट में आराम मिलता है। -इलायची को पीसकर शहद में मिलाकर चाटने से पेट में आराम मिलता है। -काली मिर्च और हींग को बराबर मात्रा में पीसं...

Read More

Pechis – Dysentry Karan Lakshan Ilaj
Pechis Ayurvedic Treatment
Pechis english meansपेचिष (आंव) -Dysentry - जब मल त्याग करते समय आंत में दर्द, ऐंठन व मल के साथ खून या आंव दिखाई दे तो समझ लेना चाहिए कि पेचिष रोग हो गया है। यह रोग एक जीवाणु के कारण होता है। यह जीवाणु अन्य रोगों की वजह से स्वतः पैदा हो जाता है। मरोड़ व ऐंठन के साथ खून युक्त मल निकले तो इसे रक्तातिसार भी कहते हैं। रोग ज्यादा बढ़ जाने पर यह आंतों में सूजन पैदा कर देता...

Read More

Cholera Haiza (हैज़ा- Haija ) treatment Hindi
haija treatment
Cholera Treatment Hindi - Haija (haiza) हैजा disease in english - Cholera हैजा रोग एक भयंकर रोग है। इसे महामारी भी कहते है। यह रोग गर्मी के अंत या बरसात के शुरूआत में होता है। अगर इसका इलाज समय से न किया जाए तो भयंकर परिणाम देखने को मिलते है। हैजा रोग मक्खियों तथा जीवाणुओं के द्वारा होता है। यह रोग एक लोग से दूसरे तक फैलता जाता है। इस रोग के होने पर 80-90 प्रतिशत रोगी सही इलाज न...

Read More

Piles Treatment Hindi
piles bawasir ayurvedic treatment
Piles (bawasir) Treatment Hindi - बवासीर गुदेन्द्रिय में मस्से हो जाने का रोग है।इसे अर्श भी कहते हैं।इस रोग में मस्से गुदेन्द्रिय के बाहर-भीतर होतेहैं।बवासीर के रोगी का हाजमा ठीक नहीं रहता।भूख कम लगतीहै, कब्ज रहती है, कमजोरी के कारण चेहरा पीला पड़ने लगता है ओर चेहरे पर हल्की सूजन भी आ जाती है।बवासीर दो तरह की होती है- खूनी व बादी। यहां दोनों ही प्रकार की बवासीर की स्वदेसी चिकित्सा बतलाई जा रही है। Khooni bawasir Aur Badi bawasir ...

Read More

Bawaseer Ka Desi ilaj
Bawaseer Ka Desi ilaj
Bawaseer Ka Desi ilaj - बवासीर क्यों होता है, बवासीर के प्रकार - Khoni Bawaseer, Badi Bawaseer, साथ ही जाने  Khoni Bawaseer ka desi ilaj, Badi Bawaseer ka Desi Ilaj, बवासीर या पाइल्स के ३० घरेलु उपचार Bawaseer Ka Desi Ilaj बवासीर या पाइल्स एक ख़तरनाक बीमारी है। बवासीर 2 प्रकार की होती है। बवासीर के प्रकार - 1- ख़ूँनी 2- और बादी बवासीर बादी बवासीर को रोगी जैसे-तैसे सामान्य रूप में स्वीकार कर लेता है, लेकिन खुनी बवासीर बहुत...

Read More

Wordpress Content Copy blocker plugin by JaspreetChahal.org